बादाम के फायदे

बादाम पोस्टिक तत्वो का घर माना जाता है,इसलिए हर लोग पसंद करते है। बादाम स्वाद और गुणो से भरपुर एक ऐसी खाध-पधार्थ है जिसे लोग मेवा(nuts) भी कहते है। बादाम को अँग्रेजी मे Almond भी कहा जाता है। आयुर्वेद मे इसको बुद्धि और नसो के लिए गुणकारी माना जाता है। लेकिन बादाम को अगर आप अधिक खाये तो इससे मोटापा भी बढ़ सकता है।

बादाम मे 160 कैलोरी होता है। ये कारबोहयदरत,प्रोटीन,फ़ाइबर,हेलथीफट्स,पोटोसिउम,विटामिन-ई,बी,आइरन मैग्नीशियम,कैल्सियम,फास्फोरस,ओमेगा-३ से भरपूर माना जाता है जिससे हम कई प्रकार की बीमारियो से भी लड़ सकते है,जैसे मधुमेह,कोलेस्ट्रॉल कम करता है,हदई रोग,कब्ज,त्वचा एवं बालो के लिए भी बहुत गुणकारी है।

बादाम का सेवन हमे रोज करना चाहिए लेकिन पर्याप्त मात्रा मे, नहीं तो कई प्रकार का नुक्सान भी हो सकता है। बाज़ार मे बादाम कई प्रकार के उपलब्ध होते है जैसे हरे बादाम,साबुत बादाम,और गिरी भुने बादाम,बादाम का तेल आदि।  

बादाम दो प्रकार के होते है (Types of Almonds):

स्वीट(sweet)और बिटर(bitter)। स्वीट बादाम या ममरा बादाम खाने के लिए इस्तमाल किया जाता है और बिट्टर बादाम से तेल निकाला जाता है जो लगाने काम आता है।

बादाम खाने का सही तरीका (How to Eat Almonds):

आपने अपने बड़े बुजुर्गो से सुना होगा बादाम हमे रोज खाना चाहिए और  जब भी खाओ रातभर भिगोकर सुबह उसके छिलके उतार कर खाना चाहिए। ऐसा नहीं है की हम बादाम भिगो कर ही खाये पर ऐसा कहने के पीछे भी एक तर्क है क्यूकि सादे बादाम में टेनिन नामक एंजाइम होता है जो बादाम के आवश्यक पोषण तत्वो को रोकता है। रातभर भीगने से बादाम के टेनिन दूर होता है और आसानी से शरीर में अवसोषित होता है। जिससे एसिडिटि भी नहीं होती है और पेट पूरे दिन ठीक रेहता है। आप भीगे हुए बादाम से बादाम का दूध भी बना सकते है।

बादाम के उपयोग, Almond Benefits in Hindi

 

बादाम के फायदे – Badam ke Fayde (Almond Benefits in Hindi)

बादाम के बहुत फायदे है जो हमारे स्वास्थ और जीवन के लिए जरूरी है। आए अब जाने बादाम के क्या क्या फायदे है:-

१) कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए :- अगर हम बादाम नियमित रूप से खाये तो हमारा कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रण मे रहेगा। २००२ में प्रकाशित एक रिसर्च के अनुशार यह माना गया है बादाम LDL कोलेस्ट्रॉल केई स्तर को १५ प्रतिशत तक घटा सकता है।

२) मधुमेह पर नियंत्रण :- ऑनलाइन जर्नल DIABETICS CARE मे पब्लिश हुए एक शोध के अनुसार बादाम पुरुषों मे और रझोनिविर्ती महिलायों(POSTMENAPAUSALWOMAN)मे टाइप-२ मधुमेह केएएम करने मे उपयोगी है क्योकि बादाम शुगर लेवेल को कम करता है और मधुमेह के कारण होने वाली अन्य समस्याओ एसई बचाता है। बादाम एमईआईएन हेलथीफट्स और विटामिन्स होते है,जो शरीर की absorption और ग्लूकोसे प्रोसेसिंग को ठीक करने मे उपयोगी है। ब्लड शुगर लेवेल को ठीक रखने के लिए हमे रोज खाना खाने से पहले एक बादाम जरूर खाना चाहिए।

३)तेज दिमाग के लिए:- हमारे बड़े हमेशा हमशे कहते है बचो कों २ बादाम रोज खिलाओ जिससे उनका दिमाग तेज होगा। यह सच है क्यूकि बादाम में विटामिन-ई और ज़िंक  अच्छी मात्रा में पायी जाती है जो दिमाग के लिए फायदेमंद तो है ही लेकिन दिमाग की कोशिकाओ कों हानिकराक आक्रमनों से बचाता है। तो रोजाना एक मुट्टी बादाम खाये और दिमाग की तृवता कों बदाए।

४)वजन घटाने के लिए:- जैसे की हम जानते है बादाम पोशिक तत्वो से प्रचुर होता है जिससे हमे वजन घटाने में मदद मिलती है। बादाम के थोरे ही सेवन से हमारे पेट बढ़ जाता है जिससे हम ज्यादा खाने से बच जाते है। क्लीनिकल न्यूट्रिशन के यूरोपियन जर्नल मे प्रकाशित एक अध्यन के अनुसार जो लोग १.५ आउंस रोज लेते है उनकी वजन में काफी सुधार आता है।

५)बादाम के गुण जन्म दोष पर लगाते है प्रतिबंध:- बादाम का सेवन अगर गर्भवती महिला करे तो उसकी होने वाली संतान को हुष्ट-पुस्ट बनाता है और उसमे होने वाले विकारो या जन्म दोस को होने से रोकता है। तो अगर आप गर्भवती है तो आप बादाम का सेवन अपनी शिशु के अच्छे स्वास्थ के लिए जरूर करे।जब बच्चा पैदा  हो जाए तो ६ महीने बाद से उसे १ बादाम को फुला कर सुबह मे घिस कर खिलाना चाहिए। उससे बच्चो के विकास में हड्डी मजबूत होने मे बहुत साहयक माना जाता है।  

६)कब्ज दूर करने के लिए बादाम:- बादाम खाने से कब्ज दूर तो होती है साथ ही ये कब्ज से बचाता भी है,कॉलन कैंसर होने की संभावना बहुत हद टीके दूर भी करता है। क्यूकि बादाम फ़ाइबर से भरपूर माना जाता है।

७)मजबूत हड्डी के लिए बादाम तेल की मालिश:– हमे छोटे बच्चो की मालिश बादाम के तेल से करनी चाहिए जिससे उनकी हड्डीया मजबूत होती है।क्यूकी बादाम मे फोसपोरोस और केल्शियम अच्छी मात्रा मे पाई जाती है।बादाम में मैग्नीशियम,और पॉटेश्यम भी होती है जो मजबूत हड्डियों के लिए बहुत जरूरी है जीससे ऑस्टियोपोरोसिस(OSTEOPOROSIS)और अन्य हड्डी की समस्या से बचने में मदद मिलती है। रोज बादाम खाये या बादाम केए दूध पिये।

८)त्वचा को पोषित करने के लिए:-बादाम का तेल त्वचा को पोषित,सुंदर,जवा और झुरियों से बचाता है साथ ही सनबर्न नहीं होता है। बादाम के तेल से मसाज करने से त्वचा ओईली नहीं होती है और पिंपलेस भी होने का खतरा नहीं होता।

९)बालो के लिए बादाम से फायदा:-बालो की समस्या को दूर करने के लिए सबसे आसान तरीका बादाम का तेल है। बादाम में विटामिन-ई ,बायोटिन,मैग्निस,ज़िंक,फेटीएसिड होता है जिससे बाल की झरने की और रूसी को रोकने में मदद मिलती है।ये नई कोशिकाओ के नवीकरण को बढाता जिससे बाल मजबूत और घना बनाता है। लैवेंडर ऑइल के साथ बादाम का तेल मिलाकर लगाने से दोमुहे बाल नहीं होते है।  

१०)ह्र्द्ये को स्वास्थ बनाना:- बादाम न केवल रक्तप्रवाह (blood circulation)और रक्तचाप(bloodpressure) मे सुधार लाता है बल्कि दिल के दोंरे(heart attack) के खतरो से बचाता है क्यूकि बादाम में मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाई जाती है। साथ ही इसमे असंतृप्त वसा (non-saturated fat)होता है जो ह्रदय के स्वास्थ्य को बनाए  रकता है साथ ही आर्टरीस(arteries)प्रहार से बचाता है। आप अपने रोज के खाने मे २० से २५ बादाम सामील करे।    

                 बादाम तो देखने में बीएस छोटा है पर इसके फायदे बहुत बड़े-बड़े है,बादाम आप समय समय पर तो खाते होगे लेकिन आप इसके गुणो से अंजान है इसलिए कई बार लोग इसे खाना नहीं चाहते।   

बादाम के उपयोग

बादाम के नुकसान – Badam ke Nuksan (Almonds Side Effects in Hindi)

आपने कभी सोचा होगा की बादाम के बहुत नुकसान भी है,कभी नहीं ना? आए जाने बादाम के क्या क्या नुकसान है। बादाम खाना नुकसान तो नहीं करता अगर आप उसे सही मात्रा में खाते हो। अगर आप बादाम अधिक मात्रा में खाएँगे तो जरूर नुकसान होगा।

१)बादाम ज्यादा खाने से कब्ज़ और पेट मे सूजन हो सकता है क्यूकी इसमे फ़ाइबर अधिक होती है।

२)बादाम मे विटामिन ई होता है। हमारे शरीर को १५ एमजी की एक दिन में विटामिन ई की जरूरत होती है अगर हम अधिक मात्रा में बादाम खाएगे तो विटामिन ई की मात्रा काफी बढ़ जाएगी जिससे पेट फूलना,दस्त,दृष्टि का साफ न होना,सिर में दर्द और सुस्ती भी आ सकती है।

३)बादाम में १ आउंस में १४ग्राम फैट है और १६३कैलोरी (163 calories)होती है जिससे अगर आप अधिक बादाम खाएगे तो आपके शरीर में फैट जमा होंगे जिससे आपका वजन बढ़ेगा।बादाम के उपयोग

४)अगर आप मैगनिस डाइट पर है तो अगर आप बादाम खा रहे है तो यह आपकी दवाई में हस्त्छेप कर सकता है। क्यूकी हमारे शरीर के लिए केवल 1.3 से 2.3मिलीग्राम की जरूरत होती है।

५)अगर किसी व्यक्ति को पित्ताशय या गुर्दे से संबन्धित समस्या है तो उनको बादाम नहीं खाना चाहिए।

६)बादाम खाने से व्यक्ति ने एलर्जि के बारे में बोला है जैसे चकते या श्र्वास में कठनाई आदि। पर ये दुर्लभ दुष्प्रभाव है।  

आखिर मे में तो यही कहुगी बादाम हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक है। पर हा कुछ बातो को ध्यान में रकते हुये ही बादाम का सेवन करे।

    

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here