Benefits of Hempushpa syrup in hindi

हेमपुष्पा शरीर की कई बीमारियों का इलाज करने के लिए एक पूरी तरह से प्राकृतिक आयुर्वेदिक टॉनिक है। रक्त शुद्धि से, मासिक धर्म संबंधी विकारों के लिए हार्मोनल असंतुलन, लगभग सभी शारीरिक और मानसिक विकारों को ठीक करने के लिए व्यावहारिक रूप से जाना जाता है।यह उत्पाद राजवाद्य शीतल प्रसाद और संस द्वारा निर्मित है। हेमपुष्पा सिरप महिलाओं द्वारा स्वास्थ्य संबंधी टॉनिक के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है जो किसी भी समस्या से पीड़ित नहीं हैं शारीरिक रूप से कमजोर, कमजोर या पतले हैं यह शरीर को पूर्ण पोषण प्रदान करता है और स्वस्थ वजन में सुधार करता है।

यह उत्पाद कई प्राकृतिक, हर्बल और पौधों के अर्क से बना है जिनका उल्लेख निम्न प्रकार से किया गया है:

  • लोध्र
  • मंजिष्ठा
  • Anantamul
  • बाला
  • Gokhru
  • Shankhpushpi
  • Musali
  • पुनर्नवा
  • Ashganhdha
  • बाख
  • Dhaiful
  • Daruhaldi
  • Gambhari
  • Nagarmotha
  • Shatavari

Also Read: Ashwagandha Benefits and Side Effects in Hindi

हेमपुष्पा के फायदे इन हिन्दी  (Hempushpa ke fayde in hindi)

#1. मूत्र समस्याओं को ठीक करना (Heal urine problems)

अक्सर पेशाब, पेशाब या गहरे रंग के मूत्र के दौरान सनसनी या जलता  हुए हेमपुष्पा के उपयोग से आसानी से ठीक हो सकते हैं। साथ ही, यह आपके गुर्दा का कार्य करता है जो आपके पेशाब को नियमित करता है।

#2. स्वस्थ भार (Healthy weight)

उन महिलाओं, जो कम वजन वाले हैं, पतली दिखती हैं और कई मायनों में वजन हासिल करने में असमर्थ हैं, तो यह सिरप उनके लिए जीवन परिवर्तक हो सकती है। सिरप का लगातार उपयोग उनके ऊंचाइयों के अनुसार उन्हें स्वस्थ वजन प्रदान कर सकता है। यह विभिन्न पौधों के अर्क के मूत्रवर्धक गुणों से सभी आवश्यक पोषण प्रदान करता है।Benefits of Hempushpa syrup in hindi

#3. गैस्ट्रिक समस्याएं (Gastric problems) 

अस्थायी गैस की समस्याएं आसानी से ठीक हो सकती हैं लेकिन कुछ महिलाओं को उनके पेट में स्थायी गैस की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यह माना जा रहा है कि इस सिरप के गैस्ट्रो और आंतों के विकारों पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।

#4. हार्मोनल असंतुलन को ठीक करना (Correcting Hormonal Imbalances)

उनके जीवन में निश्चित समय पर हर महिलाएं हार्मोनल असंतुलन के इस विकार का सामना करती हैं जो उन्हें मुँहासे, तनाव, अनचाहे बालों की वृद्धि, लगातार वजन, कम कामेच्छा, अनिद्रा, पाचन समस्याओं आदि का सामना करते हैं। हेम्प्शुपा एक महान उपाय के रूप में काम करता है हार्मोनल असंतुलन के लिए और इन सभी विकारों को समाप्त कर देता है।

Also Read: Health Tips For Girls and Women In Hindi

#5. मासिक धर्म को नियमित करना (Regularize menstruation)

कई महिलाओं को अनियमित अवधियों का सामना करना पड़ता है, अवधि के दौरान दर्द होता है, इन सभी समस्याओं के दौरान बहुत अधिक खून बह रहा है मासिक धर्म संबंधी विकार कहा जाता है यह उत्पाद उन पर कुशलतापूर्वक काम करता है।

#6. रजोनिवृत्ति सिंड्रोम को ठीक करता है (Fixes menopause syndrome)

यह कुछ ऐसी चीज है जो कभी महिलाओं को कभी भी भाग नहीं ले सकती। निश्चित आयु में, एक महिला का शरीर अंडे का उत्पादन रोकता है और शरीर कम एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन पैदा करता है। इससे शरीर में दर्द, पीठ दर्द, शरीर में कई समस्याएं होती हैं, लेकिन सिरप उन पर ठीक काम करती है।

#7. गर्भवती महिलाओं के लिए स्वास्थ्य (Health for pregnant women) 

गर्भवती महिला द्वारा पूरी तरह से सुरक्षित उपयोग करना है गर्भवती होने के दौरान महिलाएं बहुत से मुद्दों का सामना करती हैं जैसे कि कमजोरी, कब्ज, कमजोर पाचन और सभी। इस सिरप के दैनिक उपयोग से उन्हें उन मुद्दों से लड़ने में मदद मिल सकती है। हेम्पुषपा एक सिरप है जो गर्भावस्था में विशेष रूप से सभी उम्र में महिलाओं के लिए जाना अच्छा है। एक महिला जीवनकाल में गर्भावस्था की अवधि सबसे कठिन अवधि में से एक माना जाता है। ऐसे कई समस्याएं हैं जिनकी गर्भवती महिलाओं को कब्ज, मिजाज, कम भूख, पीठ दर्द, सुबह की बीमारी, थकान इत्यादि जैसी लगभग अपरिहार्य हैं।

Benefits of Hempushpa syrup in hindi)

#8. खून की कमी वाईए अनेमिया (ANEMIA)

पीरियड्स के समय के दौरान हेमपुष्पा का इंस्थेमाल (Periods ke time hempushpa ka use )

महिलाओं के साथ एक आम समस्या ये है कि उनकी पीरियड के दौरान उन्हें बहुत दर्द होता है। कभी-कभी दर्द इतनी अधिक होती है की  यह असहनीय हो जाता है, और वे दर्द की दवाई का उपयोग करते है।  हेमपुष्पा की नियमित खुराक न केवल उस दर्द को भर देता है जिसके माध्यम से आप जा रहे हैं बल्कि आने वाले समय के दौरान दर्द को सहन करने के लिए आपको भी मजबूत बनाता है। जब आप संदिग्ध होते हैं तो आप समय पर होने पर सिरप का उपयोग करने की आवश्यकता नहीं होती है। नियमित उपयोग सुनिश्चित करने के लिए बेहतर परिणाम सुनिश्चित करेगा।

Also Read: Motapa Kam Karne Ke Gharelu Upay

हएमपुशापा खुराक का उपयोग कैसे करें:(dosage)

यह 7 मिलीलीटर की प्रत्येक दो खुराक के दिन में दो बार ले। या आपे डॉक्टर के सलाह अनुशार ।

 Featured Image Photo Credit

31 टिप्पणी

  1. hello mam mai akshata mer umer 17 saal hai aur muze pahla period 15 ki umer mai aya tha uske baad 3 saalo me muze sirf 1 ya 2 baar naturally period aya tha isliye maine piriod ane k liye i pill tablet khali thi tho phir period aa gaya badme 3 se 4 mahine baad maine aur 1 aise karke aajtak 3 tablet le li hai par muze dar hai ki muze regular period ayenge kya????
    plzz help me mai is ka upyog kar sakti hu kya. meri sab saheliyo ko 12 se 13 ki umer me period chalu ho gaye
    gharvalo se bola to vo kahte hai ki aur thode din ruk jao

    • Hi Akshata,
      Periods 15 ki umar main start hua – yeh bahut badi dikat toh nahi hain, magar saal main keval ek ya do baar period aana achi baat nahi hain. Aapko ek ache gynaecologist ko dikhana chaiye turant. Yeh sab hormones ki problem ho sakti hain. Hempushpa ek limit tak hi madad karegi – but doctor aapko actual problem bata paenge.

    • Hempushpa, PCOS main kavi haad tak faydeman hota hain. Lekin – agar andar se koi badi problem hain toh iska long term Ayurvedic elaaj karna chaiye. Meditation, regular exercise, and healthy food and lifestyle na hone ki waje se aaj kal mahilo main yeh problems aa rahi hain. Aap ek ache gynacolist ko dikha kar pura course kare. And yeh hone ke baad please lifestyle theek rakhe.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here