Benefits And Side Effect Of Garlic in hindi

लहसुन एक महत्वपूर्ण खाद्य पदार्थ है जो किसी की भी घर की रसोई में आसानी से मिल ही जाती है।आयुर्वेद मे लहसुन के काफी फाड़े बताए गए है। लहसुन का प्रयोग कोई तो कच्चा खाने में प्रयोग करते है और कोई भूनकर और कोई चटनी में तो कोई इसे सब्जियों में डाला जाता है। जिस तरह मसाले सब्जियों का स्वाद बढ़ाते हैं उसी तरह लहसुन और अदरक दोनों को ही खाना बनाते समय स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल में लिया जाता है।पर क्या आप जानते है लहसुन स्वाद बढ़ाने के साथ साथ हमारे बॉडी के लिए कितनी फायदेमंद है। इसमे सल्फर युक्त योगिक गुण बहुत है।

इसके साथ लहसुन एंटीबेक्टेरियल,एंटी- फूंगल एवं एंटी-ऑक्सीडेंट है जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है। लहसुन खाने से पाचन शक्ति मजबूत बनती है। यह कई रोगों को काटने के भी काम आता है। लहसुन में मौजूद ‘एलायसिन’ नामक पदार्थ जैसे ही शरीर में पहुंचता है, वह पाचन संबंधी हर समस्या को खत्म करने का काम आरंभ कर देता है। इसके अलावा लहसुन में काफी बड़ी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है और सबसे अच्छी बात है कि इसके कैलोरी बिल्कुल भी नहीं होती। रोजाना थोड़ी मात्र में लहसुन को खाने से आपके स्वास्थ को बेहतर तो बनाएगा ही साथ ही यह आपके बॉडी को बीमारियो से बचाता भी है। इतना ही नहीं इसमे केल्सिउम,कोपर,विटामिन ,पोटे सिउम,फ़ाइबर,आइरन की मात्र पाया जाता है।

Contents

लहसुन के फायदे (Lehsun Ke Fayde in Hindi)

१) लहसुन प्रतिरक्षा प्रणाली या प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में लाभदायक (Garlic beneficial in enhancing immune system)

लहसुन में विटामिन सी,बी ६ और सेलेनियम जैसे खनिज प्रदर्थ है जो हमारे बॉडी के प्रतिरोधक क्षमता को या immune सिस्टम को बढ़ाने में काफी मददगार है।ये खनिज अवशोषण में भी सुधार लता है।सर्दी जुकाम जैसे इन्फ़ैकशन के लिए लहसुन का सेवन करे। रोजाना इसके सेवन से ६३%चान्स सर्दी होने खतम होजते है।इससे छोटे मोटे इन्फ़ैकशन झट से दूर हो जाते है।

Lehsun Ke Fayde in Hindi

२) लहसुन वजन कम करने में फायदे मंद है (Garlic for weight loss)

अगर आप इसे रोज सुबह खाली पेट लहसुन का सेवन करे तो आप का वजन काफी कम होने लगता है और साथ ही आपका चयपचाय को भी तेजी से बढ़ाता है।

३) लहसुन पाचन शक्ति को ठीक करने मददगार (Garlic helps to improve digestive power)

लहसुन पाचन सकती को बढ़ावा देने के लिए पेट के कार्यो को नियंत्रित करता है। ये गस्ट्रिक को रोकता है और पाचन क्रिया को सुधारने में भी मदद करता है। ये विषाक्त पढ़ार्थों को शरीर से निकालने में काफी हद तक मदद करता है। लेकिन ये नहीं आप लहसुन का इस्तमल ज्यादा करने लगे किसी भी चीज को एक मात्र में खाई जाती जो नुकसान न करे।

४) लहसुन का सेवन है एलेर्जी में फायदेमंद (Garlic beneficial for reducing allergies)

लहसुन में एंटीवायरल और एंटीन्फ़्लमेटरी गु होते है जो बॉडी को सभी तरह की एलर्जि से लड़ने में मदद करता है।लहस्न में एलेर्जिक रायनाइटिस के कारण लोगो को साभिप्राकर की खुजली हो या फिर सूजन आदि जैसी एलेर्जी से छुटकारा मिलता है।

Benefits And Side Effect Of Garlic in hindi)

५) फंगल इन्फ़ैकशन से लड़ने के लिए कच्चे लहसुन है फायदेमंद (Raw garlic is beneficial for fighting fungal infections)

लहसुन में एंटी फंगल गुण होते जो फंगल के इन्फेकसन से लड़ने में सहायता करते है। फंगल इन्फ़ैकशन दाद का एक प्रमुख कारण होता है जो लहसुन के द्वारा समाप्त किया जा सकता है। लहसुन के पेस्ट को प्रभावित क्षेत्रों पर लगाए । मुंह के छालों पर भी ये बहुत कम करता है।

६) हृदय को स्वस्थ बनाने में लहसुन के फायदे (Benefits of garlic in making the heart healthy)

लहसुन हृदय के लिया काफी फायदेमंद माना जाता है। ये दिल के स्वास्थ के लिए एक अच्छा आहार माना जाता है जिससे रक्त परिसंचरण में सुधार लाने और कोलेस्ट्रॉल को कम करने और हृदय रोग को सही रखने में मदद करता है।ये दिल के दोरे या स्ट्रोक के जोकिम को कम करने में भी मदद करता है।

Benefits And Side Effect Of Garlic in hindi

७) उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए लहसुन का उपयोग (Use of garlic to control hypertension)

लहसुन उच्च रक्तचाप को भी कम सकता है या फिर सिस्टल रक्तचाप। अगर आप रोज़ कैच लहसुन की काली को खाली पेट ले तो आपका रक्त चाप नियंत्रण में रहेगा और अगर आपको इसका स्वध पसंद न हो तो आप इसको खाने के बाद दूध भी पी सकते है।गतिया के कारण सूजन और जोड़ो में दर्द को भी काफी हद तक ठीक करता है।

८) लहसुन सर्दी और जुकाम में भी है लाभदायक (Garlic for in cough and cold in hindi)

लहसुन में एंटी बायोटिक और एंटी वायरल के गुण होते है जो सर्दी और खांसी के लिए एक अद्भुत उपचार है।ये अस्थमा और ब्रोकइटिस जैसे बिभिन्न श्र्व्सन स्थितियो के इलाज में अत्यधिक लाभकारी है।

Home Remedies And Ideas Of Cough And Cold In Hindi

९) लहसुन के उपयोगसे दांत के दर्द में राहत मिलना (Relief in toothache with the use of garlic)

दांत के दर्द को कम करने में लहसुन एक बहुत ही प्रभावी चीज है क्यूंकी इसमे एंटी बकटेरियल गुण होते है जो डाट के दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करता है।बस दांत के दर्द में हमे बस लहसुन को क्रश करके दाँतो के मसूढ़ो के आस्पस्स लगाए या लहसुन का तेल भी आप लगा सकते है।

१०) कैंसर को रोकने के लिए लहसुन के उपयोग (Use of garlic to prevent cancer)

लहसुन कैंसर को रोकने में मदद करता है ये सुन कर आप जरूर सर्प्राइज़ हुए होंगे पर हा क्यूंकी ये हमारे बॉडी के पाचन तंत्र एवं फेफड़ो को ठीक करता है।ये ट्यूमर के विकास को रोकता है। या फिर ट्यूमर के आकार को कम करने में मदद करता है। लहसुन में एलिल सल्फर योगिकों की उपस्थिती कैंसर कोशिका वृद्धि की प्रगति को धीमा कर सकती है। लहसुन को खसटोर पर प्रोस्ट्रेट और ब्रेस्ट कैंसर से बचाने वाला माना जाता है।

Benefits And Side Effect Of Garlic in hindi

११) सेक्स हॉरमोन के स्तर को ठीक करता है (Garlic regulates hormones)

लहसुन में एलीसीन नाम का पदार्थ होता है जो पुरुषो के मेल हारमोन को यानि सेक्स हॉरमोन के स्तर को ठीक रखता है। इससे पुरुषो में इरेकटाइल दिस्फ़ंक्सन दूर होता है। वही लहसुन में सेलेनिउम और भरी मात्र में विटामिन पाये जाते है जिससे स्पर्म क्वालिटी बढ़ती है।

१२) पेट की गड़बड़ दूर करता है लहसुन (Garlic removes stomach problems)

अगर पेट खराब हो या जल्दी जल्दी इन्फ़ैकशन हो रहा हो तो भुना लहसुन खाने से इन्फ़ैकशन में राहत मिलती है।इसके सेवन से सिने में जलन,उल्टी आर पेट की खराबी आदि दूर करने में मदद मिलती है।

Benefits And side effects of aloevera in Hindi

१३) खून की सफाई में लहसुन फायदेमंद (Garlic beneficial in cleaning blood)

चेहरे पे पिंपल हो या मुहासे सबका एक ही कारण होता है खून साफ न होना।लहसुन एक नैचुरल तरीका है जिससे चेहरे के कील मुहासे दूर हो जाते है। लहसुन के सेवन से शरीर और खून में मोजूद गंदगी दूर हो जाती है। जिससे फ़ेस के पिंपल खत्म होजते है। सुबह खाली पेट एक ग्लास गुंगुने पानी में आधा नींबू का रस और २ कच्चे लहसुन की काली ले। इससे हमारी बॉडी के विशेले पदार्थ बाहर निकाल जाएगे।

१४) बालो को मजबूत बनाने में लहसुन के गुण (Garlic properties in strengthening hair)

आज हर कोई बाल गिरने की समशया से परेशान है । और इसके उपचार के लिए हमे लहसुन का सेवन करना चाहिए। लहसुन में allicin सल्फर होता है जो बालो का झड़ना कम करता है। आप जो भी तेल इस्तेमाल कर रहे हो उसमे बस लहसुन डालकर उबाल ले ,जब ये ठंडा हो जाए तो इसे छान कर हर रोज बालो में लगाए। इससे बाल मजबूत तो हैगे ही साथ ही काले और चमकदार भी होजाएंगे।

Benefits And Side Effect Of Garlic in hindi

१५)लहसुन के लाभ करे गठीया के दर्द को कम (Garlic For Arthritis Pain in hindi)

गठिया के दर्द को कम करने के लिए लहसुन एक परखा हा और गुणकारी उपाय है। इसमे एंटीओक्सीडेंट और एंटीन्फ़्लमेट्री गुण होते है जिससे गठिया की विभिन्न रूपो से जुड़ी सूजन को कम करने मदद करता है।

लहसुन के इतने सारे गुण कभी अपने सोचा था नहीं न ,लेकिन किससी भी चीज के अगर फाड़े होते है तो कुछ नुकसान भी होते है अगर उसे सही मात्र में नहीं लिया जाए तो। तो आए चले जाने लहसुन के कुछ नुकसान जो हमे पता होना चाहिए।

लहसुन के नुकसान इन हिन्दी (Lehsun ke Nuksan in hindi)

१) लहसुन के सेवन से मुंह में दुर्गंध आ सकती है।

२) जिन लोगों का ब्लड प्रेशर कम रहता है उन्हें लहसुन का कम से कम सेवन करना चाहिए। यदि जरूरत ना हो तो इसे इग्नोर ही करना चाहिए। क्योंकि लहसुन खाने से ब्लड का फ्लो यानि बल्ड का प्रेशर और अधिक गिर जाता है जो कि दिक्कत पैदा कर सकता है। ऐसे लोगों को गलती से भी कच्चा लहसुन नहीं खाना चाहिए।

३) एनिमिया जिन्हें भी हो यानि कि खून की कमी है, वे कच्चा लहसुन तो गलती से भी ना खाएं। लहसुन बॉडी में जाकर फैट और खून दोनों को ‘बर्न’ यानि जलाने का काम करता है। इसलिए अगर ऐसे लोग कच्चा लहसुन खाएंगे तो यह उनके लिए जानलेवा बन सकता है। इसके अलावा पके हुए लहसुन का भी कम से कम सेवन करें।

४) गर्भवती महिलाएं- प्रेग्नेंसी के दौरान लहसुन खाने से बचना चाहिए। बहुत से लोग आपको प्रेग्नेंसी में लहसुन खाने की सलाह देते हुए मिलेंगे। इसमें कोई शक नहीं कि लहसुन पाचन शक्ति को मजबूत बनाकर हमारी बॉडी को अंदर से मजबूत बनाता है लेकिन गर्भवती महिला की बात करें उन्हें लहसुन खाना दो कारणों से बड़ा नुकसान देता है। पहला, इसका बिना पके हुए सेवन करना ‘प्री-मेच्योर्ड’ बेबी दिलाता है। दूसरा, लहसुन तासीर में बहुत गर्म होता है और एक गर्भवती महिला को अधिक गर्म चीजों का सेवन कम से कम करना चाहिए। इसी कारण से प्रेग्नेंट महिला को पपीता खाने से भी मना किया जाता है।

५) एसिडिटी, हार्टबर्न, पेट का अल्सर, डायरिया इन सभी परेशानियों में से यदि एक भी परेशानी आपके साथ है तो आप लहसुन का सेवन गलती से भी ना करें। लहसुन खाने से एसिडिटी को और भी बढ़ावा मिलता है, यह हार्टबर्न को भी बढ़ाता है। ऐसे लोगों को लहसुन को सीधा तो गलती से भी नहीं निगलना चाहिए।

६) ऑप्रेशन या सर्जरी- अगर ऑप्रेशन या सर्जरी हाल ही में हुई है या कुछ ही समय में होने वाली है तो ऐसे लोगों को लहसुन का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि उस दौरान लहसुन खाने से ब्लड का फ्लो बढ़ जाता है। लहसुन ब्लड को पतला करने का काम करता है उसका फ्लो भी बढ़ा देता है जो कि सर्जरी के लिहाज से परेशानी लाता है।ऐसे में डॉक्टरों के लिए ऑप्रेशन करना या उसके बाद भी ब्लड को कंट्रोल करना पाना मुश्किल हो जाता है। इसलिए ऐसे लोगों को ऑप्रेशन के बाद कम से 15 दिनों तक भी लहसुन पका हुआ या कच्चा, किसी भी रूप में नहीं खाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here