Health tips for women in hindi
Health tips for women in hindi

 

आजकल के लाइफ स्टाइल में हम अपने आप को इतना बिज़ि कर लेते है की हम अपने आप पर ध्यान नहीं दे पाते, जिससे हमे कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कुछ ऐसी स्वास्थ्य समस्याएँ होती है, जो सिर्फ महिलाओं को होती है। लेकिन महिलाएँ अक्सर इन छोटी-छोटी चीजों के बारे में लापरवाह होती हैं और जिसके कारण उन्हें बाद में समस्याओं का सामना करना पड़ता है।आजकल बीमारियां बहुत बढ़ गयी हैं और खास कर महिलाये अपने परिवार का ध्यान रखते रखते खुद पर जरा भी ध्यान नहीं देती और इस वजह से उनमे बीमारियां बढ़ रही हैं। आइये जाने कुछ ऐसे हैल्थ टिप्स जो महिलाओ के लिए बहुत जरूरी होता है-


हैल्थ टिप्स इन हिन्दी फॉर वुमेन (Women Health Tips in Hindi)

 

1. व्यायाम करना जरूरी है ( Exercise is necessary):

महिलाओ को ज्यादा से ज्यादा व्यायाम करने की जरुरत होती है, यदि महिलाये हफ्ते में कम से कम 2 से 3  बार भी व्यायाम करे तो वे ह्रदय विकार, शुगर, कैंसर जैसी बीमारियों से बच सकती है। व्यायाम करते रहने से आपका व्यक्तित्व भी निखरता है और साथ ही आपका स्वास्थ भी अच्छा रहेगा।

2. तनाव से दूर रहे (Stay away from stress):


महिलाओ के पास करने के लिए बहुत से काम होते है और वे उन सभी को एक साथ करना चाहती है।इससे महिलाओ को तनाव हो जाता है। तनाव से महिलाओ को और भी स्वास्थ संबंधी बीमारिया हो सकती है।  इससे आपको शुगर, ह्रदय रोग जैसी भयंकर बीमारिया भी हो सकती है।  इसीलिये अपने आप को ज्यादा तनाव में न रखे और तनाव से दूर रहने की कोशिश करे। यह सबसे बड़ी समस्या है जो ज्यादातर महिलाओं में दिखाई देती है।

 

3. आवश्यकता के अनुसार नींद लेना (Sleep as per requirement):


नींद महिलाओ के लिये बहुत  जरुरी है।  यदि आपकी इच्छा पलंग से उठने की नहीं होती या आपको थकावट महसूस होती है तो आपको पर्याप्त नींद लेनी की जरूरत है । क्योकि पर्याप्त नींद लेने से आप ह्रदय संबंधी बीमारियों से और मानसिक बीमारियों से बच सकते है। .

 

4. पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम ग्रहण करे (Elevate calcium in adequate quantities):

 

ज्यादा मात्रा में कैल्शियम की मात्रा ग्रहण करने से आपको किडनी स्टोन संबंधी बीमारिया और साथ ही ह्रदय विकार भी हो सकता है।  यदि आपकी उम्र 40 से कम है, तो आपको हर दिन 1000 मिलीग्रम, और यदि 40 से उपर है तो 12 मिलीग्राम कैल्शियम की जरुरत आपको होती है और ये आपको पोष्टिक पदार्थ दुध और बादाम से मिल  सकते है।


5. अपने खान पान पर ध्यान दे (Pay attention to your diet):


ज्यादातर महिलाएं काम काज के चक्कर में अपने खाने पिने पर ध्यान नहीं देती, अगर आपको पुरे घर का ध्यान रखना हो तो पहले खुद का ध्यान रखना होंगा इसलिए महिलाओं को अपने स्वास्थ का पूरा ध्यान रखना होंगा। अनियमित खान-पान और तनाव की वजह से बहुत सारी महिलाओं की योनी के बाल भी उम्र से पहले हीं सफेद हो जाते हैं।  इसलिए समय पर और शरीर को लाभ पहुँचाने वाला भोजन करना चाहिए. सामान्य रूप में 50 वर्ष से अधिक उम्र हो जाने पर महिलाओं की योनी के बाल सफेद होना शुरू होते हैं।

6. आनुवांशिक जांच को ध्यान रखे (Take care of genetic testing):

आजकल लोगो में कुछ बीमारिया आनुवांशिक(genetic)भी होने लगी है जैसे शुगर, ह्रदय संबंधी बीमारी, कैंसर इत्यादि। इसीलिये अपने आनुवांशिक इतिहास को जानकार यदि कोई समस्या हो तो तुरंत डॉक्टर से उस बारे में बात करनी चाहिये।

7. जनन क्षमता का विचार करे (Think of fertility):

महिलाओ को 30 से 40 की उम्र में भी गर्भवती होने की कोई समस्या नही होती है, लेकिन 32 की उम्र से ही वे अपनी जनन क्षमता को खोना शुरू कर देती है।  इसीलिये यदि आपको बच्चा चाहिये, तो अपने डॉक्टर से सलाह ले।

8. स्वस्थ संभोग करे (Have a healthy sex):

संभोग आपके तनाव को कम करता है और ऐसा करने से दीर्घकालीन बीमारियों का खतरा कम होता है। लेकिन यह तभी संभव है जब आप ख़ुशी से संभोग करे । यदि संभोग करते समय आपकी किसी प्रकार की कोई तकलीफ होती है तो तुरंत अपने डॉक्टर को दिखाये।

इनके अलावा और भी बहुत सारे हैल्थ टिप्स है जो महिलाओ के लिए जरूरी है – Additional Health Tips for Women

1)अगर आपके ब्रेस्ट में रैशेज हो जाए, तो आप बेबी पाउडर का इस्तेमाल कर सकती हैं। फंगल रैसेज की समस्या है, तो मीठा खाना कम करें।  रैशेज वाले जगह पर तुलसी के पत्तों का पेस्ट लगाने से फायदा पहुंचेगा।  हल्दी को ऐलोवेरा और दूध के साथ मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाने से भी फायदा पहुंचेगा।

2) अपने स्तनों की खुद जाँच करते  रहें, कि कहीं उनमें ब्रेस्ट कैंसर का कोई लक्षण तो नहीं दिखाई दे रहा है.
लापरवाही भरी जीवनशैली महिलाओं की अनेक बीमारियों का कारण बनती है.

3)  व्यायाम करने से पीरियड सम्बन्धित समस्याएँ कम होती है, लेकिन व्यायाम एक सीमा में हीं करना चाहिए।

4) अगर आप ज्यादा भोजन करती हैं, तो आपको उन्हें बर्न करने के लिए ज्यादा शारीरिक श्रम भी करना चाहिए।

5 ) ओवरी मसाज – अण्डाशय, गर्भाशय के सामने स्थित होते हैं. यह बिल्कुल पेल्विक हड्डियों से जुड़े होते हैं.
इस हिस्से में सेल्फ मसाज के जरिये भीतरी हिस्से में आक्सीजन युक्त रक्त का प्रवाह होता है। जिससे अण्डों की सेहत पर सकारात्मक असर पड़ता है।

6) अपने शरीर का नियमित मसाज करें।

7) चाय के साथ नमकीन या बिस्कुट न लें, इससे मोटापा बढ़ने की सम्भावना कम होगी।

8) हाथ या पैरों के बाल हटाने के लिए कभी भी रेजर का उपयोग न करें।

9) आलू के रस या ओलिव आयल से मसाज करने से स्ट्रेच मार्क्स कम हो जाते हैं।

10) अगर आपके मासिक श्राव का रंग हरा या पीला हो जाए तो आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए।

11) अगर आपके होंठों का रंग असामान्य हो, तो यह लीवर सम्बन्धित समस्या का संकेत हो सकता है।

इन उपायों को अपनाने से आप स्वस्थ रह सकते है। महिलाओ का स्वस्थ रहना जरुरी होता है, उन्ही एक महिला पर ही पूरा घर निर्भर होता है। इन उपायो को अपनाकर  महिलाये आसानी से स्वस्थ रह सकती है।  और महिलाये यदि स्वस्थ रहेगी तभी वे परिवार का पालन पोषण स्वस्थ रूप से कर पाएंगी।

 

2 COMMENTS

  1. This article touches every issues that women at the age of 30-40s. following some of these instructions are really beneficial to improve the life style.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here