स्टेविया क्या है और इसका पौधा कैसा है इन हिन्दी

Contents

स्टेविया क्या है और इसका पौधा कैसा है? (What Is Stevia in Hindi and Meaning of Stevia Plant In Hindi) 

स्टेविया क्या है? स्टेविया को हिन्दी मे मीठी पत्ती कहा जाता है,जो बहुत ही गुणकारी होता है।स्टेविया अपने गुणो के कारण तो जाना ही जाता है,साथ साथ इसमे यह गुण भी है की इसे हम कभी भी किसी भी मौसम मे अर्थात इसे पूरे साल उपजा सकते है।

सिर्फ ऐसे स्थान जहाँ तापमान शून्य से भी नीचे चला जाता है वह इसकी खेती नहीं हो सकती।
स्टेविया की १५० किस्म होती है,जिसमे ५ ही खेती के लिए उपयुक्त है जिनमे रिबाउदियाना सबसे उपयुक्त है। क्योकि इसमे प्रायप्त मात्रा मे ग्लूकोसाइड पाया जाता है। स्टेविया की यह किस्म पूरे भारतवर्ष के लिए ही उपयुक्त है इसमे सबसे अधिक मात्र मे २१%ग्लूकोसाइड पाया जाता है।इसके पौधे की खास बात यह है की इसकी कलम को भी लगाया जा सकता है। स्टेविया के पौधो को पूरे पानी की जरूरत रहती है।

इसे भी पढ़ें: कायम चूर्ण के उपयोग एवं फायदे

स्टेविया के उपयोग इन हिन्दी (Uses Of Stevia In Hindi)

  • स्टेविया के प्लांट मे उचित मात्रा मे ग्लूकोज होता है, यह हमारे शरीर मे ग्लूकोज की मात्रा को बनाए रखने मे मदद करता है।
  • इसका उपयोग बहुत तरह की औषधि को बनाने के लिए किया जाता है।
  • इस प्लांट को शुगर के alternative के जगह इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • इस पौधे का इस्तेमाल वजन को घटाने, डिप्रेसन ,पाँवो के फूलने जैसी प्रॉब्लेम्स को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • दाँतो की केविटी को दूर करने के लिए भी इस पेड़ के पत्तों का इस्तेमाल किया जाता है।

हिंदी में स्टेविया के लाभ व खाने के फायदे (Stevia Plant Benefits In Hindi) 

  • वजन कम करने मे ( Stevia for weight Loss)
  • पचने मे (Stevia pachane main faydemand)
  • उच्च रक्त चाप मे (Stevia High Blood Pressure control karta hain)
  • मधुमेह रोग मे (Diabetes ke liye faydemand hain stevia)
  • रूसी दूर करने मे (Dandruff)
  • त्वचा के लिए (For Glowing Skin)
  • कैंसर के इलाज मे (Cancer ke treatment ke liye stevia)
  • हड्डियों के लिए (Hadiyo ke liye stevia)
  • मुंह के लिए (Daantho ke swasth ke liye stevia)

#1. वजन कम करने मे (Stevia For Weight Loss in Hindi)

स्टेविया के पौधे मे केलोरी नहीं होती है। स्टेविया के पौधे के रस को प्रतिदिन ८-१० बूंद गरम या ठंडे पानी मे मिलाकर पीने से मोटापा कम होता है। इसे हमेशा भोजन करने के १० से १५ मिनट पहले पीना चाहिए। आजकल की लाइफ मे सभी अपने वजन को लेकर बहुत पोजेसिव है, वैसे लोग जो अपना वजन कंट्रोल मे रखना चाहते है और फ़िगर भी मेंटन रखना चाहते है तो उन्हे स्टेविया का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: मोटापा घटाने के घरेलू उपाय

#2. पचने मे (Indigestion)

पेट से संबन्धित जो भी जो भी प्रोब्लेम है जैसे अपच,जलन,पेट मे दर्द,खट्टी डकार आना,इन सभी प्रॉब्लेम्स को स्टेविया प्लांट से दूर किया जा सकता है। रोज़ खाना खाने के १५ से २० मिनट के बाद यदि स्टेविया प्लांट की चाय पी ली जाए तो पेट से संबन्धित सभी रोगो को दूर किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें: पेट दर्द और गॅस के कारण एवं पेट दर्द के इलाज के घरेलू उपाय इन हिन्दी

#3. उच्च रक्त चाप मे (Stevia For High Blood Pressure)

स्टेविया प्लांट की चाय पीने से बहुत सी बीमारियों को ठीक किया जा सकता है लेकिन उच्च रक्त चाप वालों के लिए तो यह रामबाण है,रोज़ दिन मे दो बार सुबह शाम यह चाय पीने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है।

#4. मधुमेह मे (Diabetes)

स्टेविया चीनी के जैसा ही मीठा पदार्थ है,लेकिन इसमे स्टेवियोसाइड होता है जो गैर कबोहाइड्रेड ग्लाइकोसाइड कम्पाउण्ड होता है,जब स्टेवियोसाइड टूट जाता है तब ग्लूकोज युक्त कण खून मे अवशोषित होने और शरीर मे ग्लूकोज के स्तर को प्रभावित करने की बजाय,कोलन मे बैकटेरिया द्वारा अवशोषित होते है। यह मधुमेह रोगियों या कार्बोहाइड्रेड नियंत्रित आहार खाने वालों के लिए सामान्य चीनी की तुलना मे आदर्श विकल्प है।

मानव स्वस्थ के लिए स्टेविया बहुत ही महत्वपूर्ण है,जो शरीर मे रक्त शर्करा को नियंत्रित करने की क्षमता रखता है। यह चीनी से बहुत ज्यादा लगभग ४०% मीठा होता है लेकिन यह मधुमेह के रोगियों को नुकसान नहीं पहुंचाता है। अगर मधुमेह के रोगी गलती से कुछ चीनी खा भी ले तो कुछ देर के बाद स्टेविया के कुछ पत्ते चबा लेने से अच्छा रहता है।

#5. रूसी दूर करने मे (Dandruff)

हमारे बालो की समस्या जैसे बाल झड़ना,बालों का पतला होना,रूखे बाल,रूसी,इन सभी प्रॉब्लेम्स को स्टेविया प्लांट की मदद से बहुत ही आसानी से दूर किया जा सकता है। इसके लिए बाल धोते समय शैम्पू मे २ से ३ बूंद स्टेविया प्लांट का रस मिलाकर लगाना चाहिए,इससे बालों की सभी परेशानियों से बचा जा सकता है।

#6. त्वचा के लिए (For Skin)

स्टेविया प्लांट के पत्तों का पेस्ट बना ले रोज़ रात को सोने से पहले इसे अपने चेहरे पर लगा ले ओर १५-२० मिनट के बाद धो ले। धोने के बाद नारियल तेल चेहरे पर लगा ले चेहरा गलो करने लगता हैऔर धीरे धीरे रिंकल्स कम होने लगते है। स्टेविया के प्लांट मे कुछ ऐसे तत्व होते है जो की हमारी त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होते है,जिसके इस्तेमाल से हमारी त्वचा खूबसूरत,जवां और खिली खिली लगने लगती है।

इसे भी पढ़ें: 19 हैल्थ टिप्स फॉर वुमेन – Health Tips for Women & Girls in Hindi

#7. कैंसर के इलाज मे (Stevia for Cancer in hindi)

स्टेविया मे पाये जाने वाले एंटी ऑक्सीडेंट के कारण ही यह कैंसर जैसे घातक रोग के रोकथाम के लिए एक आदर्श विकल्प है। गलाइकोसाइड शरीर मे मुक्त कणो को खत्म करने मे मदद करते है जिससे उन्हे स्वस्थ कोशिकाओं से कैंसर कोशिकाओ मे परिवर्तित करने से रोका जा सकता है।

#8. हड्डियों के लिए (For Bones)

स्टेविया के उपयोग से शरीर मे केल्शियम की मात्रा मे वृद्धि होती है जिससे हड्डियाँ मजबूत रहती है और ओस्टीयोपोरोसिस की संभावना को कम करता है।

#9. मुंह के लिए (For Oral Health)

स्टेविया कैबिटी को रोकता है और मसूड़े की सूजन को कम करता है। यह मुंह के बेक्टीरिया के गठन को कम करता है जिससे इसे टूथपेस्ट और माउथवाश के लिए एक लोकप्रिय योजक बना दिया गया है।

स्टेविया मे एंटीओक्सीडेंट योगिक जैसे की टैनिन,केफिक एसिड,ट्रायटरपेनस और क्वेक्सेटिन शामिल है। स्टेविया के पौधे मे फाइबर,प्रोटीन,लोहा,पोटेशियम,सोडियम,विटामिन A और C पाये जाते है। इसको पहले बहुत कम लोग ही जानते थे लेकिन यह अपनी मिठास के कारण सालो से उपयोग मे लिया जात था,लेकिन अब यह आसानी से हर जगह उपलब्ध हो जाता है।

स्टेविया की सबसे खास बात यह है की इसे हम घर के गार्डेन मे आसानी से लगा सकते है और बहुत सी बीमारियो को अपने से दूर कर सकते है।हम स्टेविया के पत्ते को सुखाकर भी रख सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here